स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

आयुष तथा स्वास्थ्य मंत्रालय सम्पूर्ण स्वास्थ्य नीति लाएंगे : डॉ. मांडविया

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। दो दिवसीय राष्ट्रीय आयुष मिशन सम्मेलन में सम्पूर्ण स्वास्थ्य नीति लाने की घोषणा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने की। सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने किया। इस अवसर पर ई-लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम (ELMS) और एक उन्नत EHR सिस्टम व्यापक AHMIS का शुभारम्भ हुआ। कार्यक्रम में विभिन्न राज्यों के आयुष मंत्री भी उपस्थित थे।

मिलकर काम करना होगा : सोनोवाल

श्री सोनोवाल ने कहा कि आयुष तथा स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय को एक साथ काम करना होगा। भारतीय पारम्परिक औषधि प्रणालियों को मान्यता देते हुए WHO ने भी जामनगर में WHO-GSTM सेंटर की स्थापना की है।

संपूर्ण चिकित्सा पर हो फोकस

डॉ. मनसुख मांडविया ने सम्पूर्ण चिकित्सा पर अत्यधिक बल देते हुए कहा कि आज की प्राथमिक आवश्यकता भारत के प्रत्येक नागरिक को स्वस्थ बनाने की है। उन्होंने कहा कि भारत की पारम्परिक चिकित्सा पद्धति हमारी शक्ति है और अब पूरे विश्व ने इसे स्वीकार कर लिया है। उन्होंने कहा कि योग वेलनेस के लिए सबसे अच्छा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य तथा वेलनेस लाभों के लिए जापान की बहुसंख्यक आबादी नियमित रूप से योगाभ्यास करती है।

गोलमेज विमर्श भी

उद्घाटन सत्र के बाद मिशन के माध्यम से देश में आयुष सेवाओं को मज़बूत बनाने पर गोलमेज विचार-विमर्श आयोजित किया गया। मंत्रियों तथा भाग लेने वाले राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारियों ने भारत की सार्वजनिक स्वास्थ्य डिलीवरी प्रणाली में AHWC द्वारा लाये जा रहे प्रभावों को स्वीकार किया। विचार-विमर्श के दौरान मंत्रियों ने यह भी बताया कि किस तरह उनके राज्यों में आयुष प्रणाली विकसित हो रही है और रोजगार सृजन कर रही है।

Related posts

JN.1 के इलाज के लिए नए दिशानिर्देश जारी

admin

आयुर्वेद में रोगों का किफायती और संपूर्ण समाधान : उपराष्ट्रपति

admin

जम्मू में शुरू हुआ उत्तर भारत का पहला अंतरिक्ष केंद्र

admin

Leave a Comment