स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

Miracle : दोंनों हाथों का एक साथ किया गया प्रत्यारोपण

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। यह साहस की एक शानदार कहानी है और मानवता का उदाहरण भी। एक महिला जिसे ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया था, उसने अपने अंगों का दान दिया और उसके हाथों ने इस पेंटर के लिए रास्ता ढूंढ लिया जो समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से हैं और बेहतर जीवन जीने की सारी उम्मीदें खो चुके थे। साल भर बाद वह फिर से पेंटर का काम कर सकेगा।

ऐसे हुआ था हादसा

एक रेल हादसे में दिल्ली के 45 वर्षीय राजकुमार ने अपने दोनों हाथ गंवा दिए थे, लेकिन दिल्ली के गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने ब्रेन डेड महिला के हाथों को राजकुमार को प्रत्यारोपित कर उन्हें नई जिंदगी दी है। 20 विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने इस मुश्किल सर्जरी को 12 घंटे लगाये। राजकुमार का 70 से 80 फीसद तक हाथों का साधारण मूवमेंट लौट सकता है, लेकिन इसमें 6 से 7 महीने का वक्त लगेगा। पता चला है कि अक्तूबर 2020 में राजकुमार नांगलोई रेलवे ट्रैक के पास अपनी साइकिल से गुजर रहे थे, तभी साइकिल का संतुलन बिगड़ा और वो रेलवे ट्रैक पर गिर पड़े। उसी वक्त वहां से ट्रेन गुजरी और राजकुमार के दोनों हाथ कट गए। आनन-फानन में उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया और इलाज के बाद उनके आर्टिफिशियल हाथ लगा दिए गए।

किस्मत ने दिया साथ, मिले हाथ

किस्मत ने दिया राजकुमार का साथ तो हाथ मिलने की संभावना बढ़ गयी। रिपोर्ट के अनुसार इस साल जनवरी में दिल्ली के कालकाजी इलाके में रहने वाली महिला को ब्रेन डेड घोषित किया गया और उनके परिवार ने उनके सभी अंगों को दान करने का फैसला किया। उनके हाथों को राजकुमार के लिए सुरक्षित कर लिया गया। अस्पताल ने राजकुमार को बुलाकर डोनर से मैचिंग करायी। डाॅक्टरों ने एक साथ दो ऑपरेशन किए गए। एक जगह से हाथ निकाले गए और राजकुमार के हड्डियों, रक्तवाहनियों, मांसपेशियों और त्वचा से जोड़ा गया। अस्पताल कें प्लास्टिक सर्जरी के प्रमुख डॉ. महेश मंगल और हैंड माइक्रोसर्जरी के डॉ. निखिल झुनझुनवाला समेत 20 विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम ने इसे अंजाम दिया। दोनों हाथों के प्रत्यारोपण का यह उत्तर भारत का पहला मामला है।

Related posts

कोरोना योद्धाः बिहार के इस एएसपी ने बदल दी जिले की तस्वीर

Ashutosh Kumar Singh

सुखद : अब मध्यप्रदेश में हिन्दी में होगी डॉक्टरी की पढ़ाई

admin

चाय बागान के दुश्मन कीटों के विरुद्ध नया जैविक अस्त्र

admin

Leave a Comment