स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

सैल्यूट तो करना ही होगा डॉक्टर साहब को…वजह तो जान लीजिए

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। बेंगलुरु के इस डॉक्टर को तो सैल्यूट करना ही होगा। कारण तो जान लीजिए। वो सर्जन हैं और समय पर मरीज की सर्जरी कर जान बचाने के लिए डॉक्टर साहब ने कार छोड़ दी और दौड़ कर अस्पताल पहुंच गये। इस डॉक्टर का नाम गोविंद नंदकुमार है। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने भी वीडियो देखकर उनकी तारीफ की है।

जानिये दौड़ लगाने की कहानी

घटना कुछ दिन पुरानी है और इसका वीडियो अब उन्होंने सोषल मीडिया पर डाला है। डॉक्टर साहब इसलिए दौड़ पड़े क्योंकि कार से अस्पताल जा रहे थे लेकिन ट्रैफिक जाम में फंस गए जबकि सर्जरी के लिए जल्दी पहुंचना था। इसके बाद उन्होंने कार और ड्राइवर को वहीं छोड़ दिया और अस्पताल के लिए दौड़ लगा दी। डॉक्टर के मुताबिक उन्हें सरजापुर के मणिपाल अस्पताल पहुंचना था। जाम में फंसने पर उन्होंने गूगल मैप चेक किया तो पाया कि कार से जाने पर उनको 45 मिनट और लगेंगे जबकि अस्पताल महज तीन किलोमीटर दूर था। बस, कार और चालक को छोड़कर दौड़ लगा दी।

समय पर पहुंच की सर्जरी

मिल रही जानकारी कहती है कि मरीज पहले से ही सर्जरी के लिए अस्पताल पहुंच कर ओटी में जा चुका था। अन्य मरीज भी डॉक्टर का इंतजार कर रहे थे। वहां उन्होंने सर्जरी की और मरीज को बचा लिया। दौड़ का वीडियो उन्होंने खुद बनाया और सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

Related posts

डेंगू की रोकथाम के लिए लार्वा नष्ट करने का अभियान

admin

‘सामाजिक आपातकाल’ के दौर में देश: प्रधानमंत्री

Ashutosh Kumar Singh

COP 27 के भारतीय पवेलियन में हरित शिक्षा पर चर्चा

admin

Leave a Comment