स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

कपड़ों के सिलवट को गले लगाकर कार्बन उत्सर्जन रोकें

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। CSIR ने अपने कर्मचारियों को हर सोमवार बिना इस्त्री किए हुए कपड़े पहनकर आने को कहा है। उसने हाल ही में ‘रिंकल्स अच्छे हैं’ नाम से एक अभियान शुरू किया था, जिसमें पूरे देश में अपने कर्मचारियों से 15 मई तक हर सोमवार को बिना इस्त्री किए हुए कपड़े पहनने को कहा है। इसका उद्देश्य रोजाना हो रहे कार्बन उत्सर्जन (Carbon emission) को कम करना है। मालूम हो कि कपड़ों के हर सेट को इस्त्री करने से 200 ग्राम कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) पैदा होता है। ऐसे में एक दिन 200 ग्राम तो कार्बन डाइऑक्साइड के उत्सर्जन को रोका जा सकता है।

झारखंड : ABHA Card बनवाने में रांची टॉप पर

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता (ABHA) कार्ड बनवाने में रांची जिला राज्य में पहले स्थान पर है। रांची में 12.96 लाख लोगों का आभा कार्ड बनाया जा चुका है। दूसरे स्थान पर पूर्वी सिंहभूम और तीसरे स्थान पर धनबाद है। सबसे कम आभा कार्ड खूंटी जिले में बन पाया है। यहां आभा कार्ड की संख्या 1.86 लाख है। खूंटी में कार्ड बनवाने में लोगों के बीच जागरूकता की कमी है। यह कार्ड एक डिजिटल हेल्‍थ कार्ड है जिसमें मरीज के इलाज से संबंधित पूरी जानकारी होती है।

राजस्‍थान में चिकित्सा तंत्र होगा ऑनलाइन

राजस्‍थान में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण और चिकित्सा तंत्र को पूरी तरह ऑनलाइन करने के लिए इन्टीग्रेटेड हैल्थ मैनेजमेंट सिस्टम 2.0 लागू किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह ने कहा कि आमजन को सुगमतापूर्वक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने की दृष्टि से यह एक महत्वाकांक्षी एवं विजनरी प्रोजेक्ट है। यह एक अत्याधुनिक हैल्थ मैनेजमेंट सिस्टम होगा, जिससे प्रदेश के चिकित्सा तंत्र में सकारात्मक क्रांतिकारी बदलाव आएगा।

Related posts

दक्षिण एशिया में जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने के उपायों पर चर्चा

admin

सूखे खून के एक कतरे से हो सकेगी कैंसर की सटीक जांच

admin

सरकार देश भर में 25 हजार जन औषधि केंद्र खोलेगी

admin

Leave a Comment