स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

मेरठ के चार स्कूली छात्रों में मिले मंकीपॉक्स के संदिग्ध लक्षण

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। सयानों की बात छोड़ दीजिये, मंकीपॉक्स के लक्षण अब बच्चों में भी मिलने लगे हैं। मेरठ के एक स्कूल में चार बच्चों में ऐसे लक्षण मिले हैं। वहां भय से कक्षा एक से पांचवीं तक के बच्चों की छुट्टी कर स्वास्थ्य विभाग को सूचना भेज दी गयी है।

एहतियात के लिए कक्षायें स्थगित

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार मेरठ कैंट स्थित उस स्कूल की प्रधानाचार्य लक्ष्मी सिंह ने बताया कि कक्षा तीन के एक छात्र को सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां के सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन ने बताया कि जिला सर्विलांस टीम को इसकी छानबीन के लिए लगाया गया है। किसी को भी मंकीपॉक्स की पुष्टि नहीं हुई है, न ही किसी की आधिकारिक तौर पर जांच हुई है। बच्चे घर पर ही हैं और स्वस्थ हैं। उन्हें बुखार और शरीर पर लाल दाने थे, जिससे मंकीपॉक्स का भ्रम हो गया था।

 लक्षण नहीं, भ्रम: अफसर

उधर जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. अशोक तालियान इसे महज भ्रम बता रहे हैं। उनका कहना है कि छानबीन कर ली गई है, किसी में भी मंकीपॉक्स के लक्षण नहीं हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम विस्तृत जांच के इन सभी के घर भी जाएगी।

Related posts

कोविड-19 के विरुद्ध पूर्व सैनिकों ने खोला मोर्चा

Ashutosh Kumar Singh

आयुर्वेद ही है कोविड-19 का समाधान

रवि शंकर

फ्रंटलाइनर बने आयुर्वेद और होमियोपैथ

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment