स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

साल भर चलेगा लाल किले से धरोहरों का प्रदर्शन

नई दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। दस दिवसीय लाल किला महोत्सव-भारत भाग्य विधाता-शो अब साल भर चलता रहेगा। दरअसल इस सांस्कृतिक महाकुंभ में प्रोजेक्शन मैपिंग शो ‘मातृभूमि’ को दर्शकों का जबरदस्त उत्साहवर्धन मिला है।

गौरव होगा देश के प्रति

संगीत, प्रकाश और ध्वनि के प्रयोग से ‘मातृभूमि’ के जरिये उच्चस्तरीय तकनीक से भव्य मनोरम दृश्य पैदा किये गये हैं। प्रोजेक्शन मैपिंग शो में भारत की पुराने, अनूठे और उतार-चढ़ाव से भरे इतिहास के जरिये देश की समृद्ध तथा विविधतापूर्ण संस्कृति को दर्शाया गया है, जो देशवासियों में गौरव तथा देशभक्ति की भावना को उद्वेलित कर देती है।

धरोहर से सामना

आजादी के अमृत महोत्सव के क्रम में ‘भारत भाग्य विधाता’ देश के महान सांस्कृतिक महाकुंभ के रूप में स्थापित हो चुका है। ‘मातृभूमि’ शो के माध्यम से संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय ने मॉन्यूमेंट मित्र, डालमिया भारत लिमिटेड के साथ मिलकर भारत के समृद्ध इतिहास व धरोहर को नई पीढ़ी के सामने परस्पर संवादों के साथ लाल किले पर प्रदर्शित किया है।

कई हस्तियां बनीं साक्षी

देशभर की प्रतिष्ठित हस्तियां इस महोत्सव की साक्षी बन चुकी हैं। उद्घाटन समारोह में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति इरानी की गरिमामयी उपस्थित रही। पुलिस आयुक्त श्री राकेश अस्थाना ने इस प्रोजेक्शन मैपिंग शो का उद्घाटन किया। सुंदर अवधारणा, पटकथा के साथ इसे पेश किया गया है। तीस मिनट का यह शो अपने आप में शानदार संस्कृतिक व दर्शनीय अनुभव है। यह कार्यक्रम सबके लिये निःशुल्क है। वैसे यह 10 दिनों के लिए 29 मार्च से शुरू किया गया लेकिन दर्शकों के प्यार और उत्साह को देखते हुये इसे लाल किले का स्थायी कार्यक्रम बना दिया गया है।

Related posts

सरकारी अस्पतालों में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव नहीं पढ़ा पाएंगे ब्रांडेड दवाइयों का पाठ,बिहार सरकार का क्रांतिकारी फैसला

दक्षिण भारत में सख्त सुरक्षा के बीच हुई पदयात्रा

Ashutosh Kumar Singh

‘भारतीयता’ का वाहक बन रहा है कोरोना!

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment