स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

सस्ती होंगी 84 जरूरी दवाएं, सरकार ने तय किये दाम

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। बीमार होते ही दवाओं की कीमत को लेकर तीमारदार परेषान हो जाते हैं। वजह है महंगा होना लेकिन कुछ जरूरी दवाओं की कीमत तय करके सरकार ने थोड़ी राहत दी है। दवा उद्योग संबंधी नियामक NPPA (नेशनल
फार्मास्यूटिकल प्राइसिंग अथॅरिटी) ने मधुमेह (डायबिटीज), सिरदर्द और उच्च रक्तचाप (हाई बीपी) के इलाज में इस्तेमाल होने वाली 84 दवाओं के लिए खुदरा कीमतें तय की हैं।

फॉर्मूलेशन की कीमतें भी तय

जानकारी के मुताबिक राष्ट्रीय दवा मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (NPPA) ने बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम करने के लिए फॉर्मूलेशन की कीमतें भी तय की हैं। नियामक ने एक अधिसूचना में कहा कि दवा (मूल्य नियंत्रण) आदेश, 2013 की तरफ से मिली शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए एनपीपीए ने दवाओं की खुदरा कीमतें तय की हैं। आदेश के अनुसार, वोग्लिबोस और (SR) मेटफॉर्मिन हाइड्रोक्लोराइड की एक टैबलेट की कीमत जीएसटी को छोड़कर 10.47 रुपये होगी।

पैरासिटामोल की कीमत निर्धारित

इसी तरह पैरासिटामोल और कैफीन की कीमत 2.88 रुपये प्रति टैबलेट तय की गई है। इसके अलावा एक रोसुवास्टेटिन एस्पिरिन और क्लोपिडोग्रेल कैप्सूल की कीमत 13.91 रुपये तय की गई है। एक अलग अधिसूचना में उसने कहा है कि उसने तरल चिकित्सा ऑक्सीजन और ऑक्सीजन इनहेलेशन (औषधीय गैस) की संशोधित अधिकतम कीमत को इस साल 30 सितंबर तक बढ़ा दिया है।

Related posts

अंगदान पर बनी फिल्म ‘पलक’ को सेंसर बोर्ड का U सर्टिफिकेट

admin

मूक-बधिरों की पीड़ा समझ सकेंगे इस अस्पताल के डॉक्टर

admin

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम का आयोजन 29 जनवरी को

admin

Leave a Comment