स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

कोरोना के बढ़ते मामलों पर स्वास्थ्य मंत्री ने की बैठक

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने कुछ राज्यों में COVID-19 मामलों की वृद्धि के मद्देनजर प्रमुख विशेषज्ञों और अधिकारियों के साथ एक बैठक की। डॉ भारती प्रवीण पवार, MOS (HFW) और डॉ वी के पॉल, सदस्य, नीति आयोग भी बैठक के दौरान उपस्थित थे।

परीक्षण और जांच पर जोर

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने उच्च मामले की सकारात्मकता की रिपोर्ट करने वाले जिलों पर ध्यान केंद्रित करने और समय पर ढंग से संक्रमण के प्रसार का आकलन और नियंत्रण करने के लिए पर्याप्त परीक्षण (RTPCR) और प्रभावी कोविड -19 निगरानी करने की आवश्यकता पर जोर दिया। डॉ. मंडाविया ने अधिकारियों को किसी भी संभावित उत्परिवर्तन के लिए स्कैन करने के लिए निगरानी और संपूर्ण जीनोम अनुक्रमण (WGS) पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखने का निर्देश दिया। उन्होंने COVID19, और SARI/ILI  मामलों के कारण अस्पताल में भर्ती होने की निगरानी के लिए भी निर्देश दिए उन्होंने उच्च मामलों की रिपोर्ट करने वाले जिलों में बूस्टर खुराक सहित टीकाकरण की गति बढ़ाने का आह्वान किया। उन्होंने निर्देश दिया, ‘‘चूंकि वैक्सीन की पर्याप्त खुराक उपलब्ध है, इसलिए पात्र और कमजोर समूहों के बीच टीकाकरण में तेजी लाने पर ध्यान केंद्रित करते हुए वैक्सीन की बर्बादी नहीं होने दें।‘‘

कोरोना पर विस्तृत चर्चा

लव अग्रवाल, संयुक्त सचिव (MOHFW) ने देश में कोविड मामलों में वृद्धि के वैश्विक परिदृश्य और देश में कोविड की स्थिति पर एक विस्तृत प्रस्तुति दी। इसमें कोविड -19 मामलों की प्रवृत्ति की प्रस्तुति और विश्लेषण शामिल था। दैनिक और सक्रिय मामले, सकारात्मकता और मौतें, प्रति मिलियन राज्यवार साप्ताहिक परीक्षणों के साथ परीक्षण की स्थिति, साप्ताहिक परीक्षणों में आरटी-पीसीआर की हिस्सेदारी, जीनोम अनुक्रमण और टीकाकरण की स्थिति पर भी चर्चा हुई।

Related posts

कोविड-19 के खिलाफ इस विश्वविद्यालय के वालंटियर्स को प्रशिक्षित कर रहा है सीसीएमबी

Ashutosh Kumar Singh

मर्ज का ईलाज करेगा ‘ऋषि‍केश-एम्स’

Ashutosh Kumar Singh

दिव्‍यांगजनों को मुख्‍यधारा में लाया जाना चाहिए : थावरचंद गहलोत

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment