स्वस्थ भारत मीडिया
रोग विमर्श समाचार

होमियोपैथिक चिकित्सकों ने सरकार से मांगा कोरोना ईलाज का अधिकार

लखनऊ के एक वरिष्ठ होमियोपैथिक चिकित्सक डॉ. अनुरूद्ध वर्मा ने पीएम को लिखा पत्र, कोरोना ईलाज की  मांगी अनुमति

आयुर्वेद ही है कोविड-19 का समाधानकोविड-19 तीसरे विश्व युद्ध का कारण न बन जाए !

लखनऊ /14 अप्रैल/ स्वस्थ भारत मीडिया 

होम्योपैथिक चिकित्सकों ने सरकार से कोरोना महामारी से बचाव, प्रबंधन एवं उपचार में होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति को शामिल किये जाने की मांग की है। इस संबंध में केंद्रीय होमियोपैथी परिषद के पूर्व सदस्य डॉ अनुरूद्ध वर्मा ने प्रधानमंत्री, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री एवं आयुष मंत्री को पत्र लिखा है।

पत्र में उन्होंने कहा है कि समय-समय पर देश, विदेश में फैली महामारियों जैसे कालरा, पीला बुखार, स्पेनिश बुखार, इन्फ्लूएंजा, स्कारलेट फीवर, स्वाइन फ्लू, डेंगू, चिकुनगुनिया, जापानी इन्सेफलाइटिस, कंजेक्टिवाइटिस आदि से रोकथाम, प्रबंधन एवं उपचार में सफलता के प्रमाण होमियोपैथी साहित्य में उपलब्ध हैं।

उन्होंने लिखा है कि कोविड 19 के कारण उत्पन महामारी से निपटने एवं बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए एक चिकित्सा पद्धति पर निर्भर रहने के बजाय एक एकीकृत व्यवस्था लागू किये जाने की जरूरत है। जिसमें होमियोपैथी को भी शामिल किया जाए। उन्होंने कहा है कि होमियोपैथी एवं अन्य चिकित्सा पद्धतियों के समन्वित प्रयास से इस महामारी से शीघ्र मुक्ति मिल सकेगी। उन्होंने लोगों से अपील कि है कि इस महामारी से बचाव के लिए सरकारी दिशा निर्देशों का पूरी तरह से पालन करें।

स्वस्थ भारत (न्यास) ने दिया समर्थन 

होमियोपैथी चिकित्सकों द्वारा कोरोना ट्रीटमेंट करने के अधिकार संबंधी मांग का समर्थन स्वस्थ भारत न्यास ने किया है। न्यास के चेयरमैन आशुतोष कुमार सिंंह ने कहा है कि, यह जायज मांग है। अभी समय होमियोपैथी को आगे करने का। सरकार को इनकी मांगो पर सकारात्मक रूप से ध्यान देना चाहिए।

गौरतलब है कि देश के कई राज्यों  मसलन गोवा, केरल एवं हरियाणा ने आयुष पैथियों को कोविड 19 को ट्रीट करने का अधिकार दे दिया है। आयुष मंत्रालय के सलाहकार डॉ. मनोज नेसारी ने भी स्वस्थ भारत मीडिया से बातचीत करते हुए कहा है कि सरकार को आयुष पैथियों को कोविड 19 ट्रीटमेंट में शामिल करना चाहिए।

Related posts

NHM कर्मचारियों ने सरकार को दिया एक महीने का अल्टीमेटम

swasthadmin

आत्महत्या कर रहे हताश-निराश-मजबूर मजदूरों को समझना-समझाना जरूरी

बिलासपुर नसबंदी मामला, दवा कंपनी का मालिक और बेटा गिरफ्तार

swasthadmin

1 comment

Sunil chand Pandey April 15, 2020 at 9:10 am

It has a full potential of curing any disease exhibited by the brain.the only difference is the hammer thi does not provide a given name tag to a particular reflection of the body but it provide the support to the brain in its atomic form through which the brain is capable to generate the required chemical to kill the virus. I have the experience of curing those diseases which have been declared incurable by the American medical council.
https://maps.google.com/?cid=9392525515540470523

Reply

Leave a Comment