स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

भारत के हेल्थकेयर बाजार में बंपर तेजी की संभावना

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। हेल्थकेयर के क्षेत्र में लगातार हो रहे काम और इनोवेषन से इसका बाजार लगातार बढ़ता जा रहा है। अनुमान है कि 2028 तक भारत का हेल्थकेयर बाजार 60 बिलियन डाॅलर हो जायेगा। यह अनुमान बेन एंड कंपनी और हीथक्वाड की एक रिपोर्ट में आया है। हेल्थकेयर इनोवेशन इन इंडिया नामक रिपोर्ट के मुताबिक यह वृद्धि उपभोक्ता मांग में तेजी, वैश्विक स्वास्थ्य सेवा मूल्य श्रृंखला में बदलाव, भारतीय वैज्ञानिक और तकनीकी क्षमताओं में प्रगति और अनुकूल नियामक स्थितियों से प्रेरित होने की संभावना है। 2023 में समग्र भारतीय स्वास्थ्य सेवा बाजार लगभग 180 बिलियन डॉलर का था जिसमें हेल्थकेयर इनोवेशन का योगदान 30 बिलियन डॉलर या बाजार का 15 फीसद था।

डायबिटीज का पता चलेगा आसान तरीके से

IIT मंडी ने डायबिटीज का पता लगाने के लिए आसान विधि की एक डिवाइस तैयार की है जिसमें खर्च और समय न के बराबर लगेगा। इसमें संदिग्ध मरीज गुब्बारे में हवा भरेंगे और शुगर का लेवल का पता चल जायेगा। ये डिवाइस हार्ट बीट, ब्लड प्रेशर और खून में ऑक्सीजन की मात्रा का भी पता लगा सकती है। अभी ब्लड टेस्ट से खून में ग्लूकोज के लेवल को मापा जाता है।

डिप्लोमा कोर्स अब दो साल का होगा

भारतीय चिकित्सा परिषद, उत्तराखंड के माध्यम से संचालित योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा डिप्लोमा कोर्स अब दो साल का होगा। अभी तक यह कोर्स एक वर्ष का था। इसे नए सत्र से लागू किया जाएगा। भारतीय चिकित्सा परिषद की रजिस्ट्रार नर्वदा गुसाईं के मुताबिक 25 आयुर्वेद फार्मेसी कॉलेजों व संस्थानों में योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा का कोर्स चल रहा है। आयुष शिक्षा में गुणवत्ता लाने के लिए ऐसा निर्णय लिया गया है।

Related posts

हेल्थ, फिटनेस और मानसिक स्वास्थ्य पर फोकस रहा ‘मन की बात’ में

admin

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की सलाह, सभी स्वास्थ्यकर्मी हेपेटाइटीस बी का टीका जरूर लगवाएं

मृत व्यक्ति के शुक्राणु से भी मां बनना संभव

admin

Leave a Comment