स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

मासिक धर्म स्वच्छता पर केंद्रित योजना होगी लागू

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय 10-19 वर्ष की आयु वर्ग की किशोरियों के बीच मासिक धर्म स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए योजना लागू कर रहा है। योजना का प्रमुख उद्देश्य किशोरियों के बीच मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में जागरूकता बढ़ाना, किशोरियों द्वारा उच्च गुणवत्ता वाले सैनिटरी नैपकिन तक पहुंच और सैनिटरी नैपकिन का सुरक्षित निपटान सुनिश्चित करना है।

राज्यों को भी दिये गये जरूरी निर्देश

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. भारती प्रवीण पवार ने लोकसभा में एक लिखित उत्तर में यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग (DOSEL) सचिव और जल शक्ति मंत्रालय के सचिव के पत्र के माध्यम से राज्यों को ग्राम स्तर पर स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) चरण-2 के तहत मासिक धर्म स्वच्छता प्रबंधन (मेंस्चुरल हाइजीन मैनेजमेंट-MHM) और मासिक धर्म अपशिष्ट का प्रबंधन करने, कक्षा 5 से 12 तक की लड़कियों वाले स्कूलों में भस्मक (इन्सिनेरेटर) की स्थापना व रखरखाव और जागरूकता पैदा करने के लिए निर्धारित धनराशि का उपयोग करने की सलाह दी गई है।

Related posts

चिकित्सा प्रौद्योगिकी का हब बनेगा भारत : डॉ. मांडविया

admin

तैयार रहे दुनिया जानलेवा महामारी से : WHO की चेतावनी

admin

स्वस्थ भारत का सपना जरूर पूरा होगाः आशुतोष कुमार सिंह

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment