स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

टॉप निजी उच्च शिक्षा संस्थानों चार मेडिकल कॉलेज भी

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। निजी उच्च शिक्षा संस्थानों की रैंकिंग में यूपी के दो मेडिकल और दो डेंटल कॉलेजों का नाम भी है। एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा देश की सर्वश्रेष्ठ निजी क्षेत्र की यूनिवर्सिटी घोषित की गई। डायलॉग इंडिया एकेडेमिया कॉन्क्लेव और डायलॉग इंडिया इंटरनेशनल एकेडमी नें एक समारोह में यह रैंकिंग जारी की एवं पुरस्कृत किया।

केंद्रीय मंत्री ने जारी की सूची

2022 की टॉप मेडिकल कॉलेजों में लखनऊ स्थित इरा लखनऊ मेंडिकल कॉलेज, मेरठ की सुभारती मेडिकल कॉलेज और सुभारती डेंटल कॉलेज तथा यमुनानगर, हरयाणा स्थित डीएवी सेंटेनरी डेंटल कॉलेज है। बाकी इंजीनियरिंग कॉलेज हैं। इस सालाना रैंकिंग का विमोचन केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने किया। इस अवसर पर आए प्रबुद्ध लोगों ने “नई शिक्षा नीति और भारतीय उच्च शिक्षा के वैश्वीकरण की संभावनाओं” पर चर्चा भी की।

कोरोना ने शिक्षा को नया आयाम दिया

कार्यक्रम की शुरुआत में डायलॉग इंडिया के संपादक अनुज अग्रवाल और डायलॉग इंडिया के सलाहकार सिद्धार्थ जैन ने अतिथियों और प्रतिभागियों का स्वागत किया। स्वस्थ भारत ट्रस्ट के विधि सलाहकार अमित त्यागी भी सम्मानित किये गये। अनुज अग्रवाल ने कहा कि कोविड महामारी ने वर्चुअल क्लासरूम और ऑनलाइन शिक्षा की शुरुआत करके और इसे मजबूती देकर विश्व भर में समग्र शिक्षा इकोसिस्टम को बदल दिया है।

प्राचीन शिक्षा प्रणाली समावेशी

केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने नई शिक्षा नीति को समुद्र मंथन से जोड़ा। उन्होंने कहा कि हमारी प्राचीन शिक्षा प्रणाली व्यापक और समावेशी थी। उन्होंने हमारी प्राचीन शिक्षा प्रणाली में स्त्रियों की भागीदारी स्पष्ट करने के लिए मैत्रेयी, गार्गी, घोष और लोपामुद्रा का उदाहरण दिया। श्री चौबे ने आशा व्यक्त की कि नई शिक्षा नीति के माध्यम से भारत विश्व में अग्रणी और शिक्षा का वैश्विक केंद्र बनेगा। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) विजय कुमार सिंह ने कहा कि हमारी वर्तमान शिक्षा प्रणाली छात्रों को अपेक्षित कौशल प्रदान नहीं करती है। इसलिए छात्रों को रोजगार नहीं मिलता है।

तीन विषयों पर पैनल चर्चा

इस कार्यक्रम के तहत तीन अलग-अलग पैनल चर्चा आयोजित की गईं। “भारतीय उच्च शिक्षा की मजबूतियों, कमजोरियों, अवसरों एवं खतरों का विश्लेषण” पर चर्चा का संचालन डायलॉग इंडिया समूह के वरिष्ठ पत्रकार और कार्यकारी संपादक अमित त्यागी ने किया। “नई शिक्षा नीति: कार्यान्वयन, चुनौतियां और आगे का रास्ता” पर दूसरी चर्चा का संचालन प्रोफेसर प्रमोद सैनी, आईआईएमसी द्वारा किया गया। वरिष्ठ पत्रकार ओंकारेश्वर पांडे ने “भारत: उच्च शिक्षा की वैश्विक मंजिल” पर तीसरी पैनल चर्चा का संचालन किया।

Related posts

सफेद झींगा पालन को बढ़ावा देने के लिए विकसित उपकरण को मिला पेटेंट

admin

हावड़ा में गंगा किनारे के ग्राम पंचायतों में प्लास्टिक हटाने का अभियान

admin

आयुर्वेदिक शिक्षा का हब बना महाराष्ट्र

admin

Leave a Comment