स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

10 लाख आशा कार्यकर्ताओं को WHO ने दिया सम्मान

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। देश के ग्रामीण क्षेत्रों तक स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने और कोरोनाकाल में घर-घर जाकर मरीज खोजने जैसा कठिन काम करने को तत्पर रही 10 लाख आशा कार्यकर्ताओं को विश्व स्वास्थ्य संगठन (ॅभ्व्) ने सम्मानित किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आशा कार्यकर्ताओं की पूरी टीम को बधाई दी है।

पीएम का ट्वीट

अपने ट्वीट में पीएम ने कहा कि अत्यंत प्रसन्नता हुई कि आशा कार्यकर्ताओं की पूरी टीम को डब्ल्यूएचओ महानिदेशक के ग्लोबल हेल्थ लीडर्स अवार्ड से सम्मानित किया गया है। सभी आशा कार्यकर्ताओं को बधाई। एक स्वस्थ भारत सुनिश्चित करने में वह सबसे आगे हैं। उनका समर्पण और दृढ़ संकल्प सराहनीय है।

पुरस्कारों की घोषणा

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डा. टेड्रोस अधनोम घेब्रेयेसिस ने वैश्विक स्वास्थ्य सेवाओं में उल्लेखनीय योगदान, क्षेत्रीय स्वास्थ्य मुद्दों के लिए प्रतिबद्धता और शानदार नेतृत्व करने के लिए रविवार को छह पुरस्कारों की घोषणा की। उन्होंनेे ग्लोबल हेल्थ लीडर्स अवार्ड्स के लिए पुरस्कार विजेताओं का फैसला किया। आशा कार्यकर्ताओं के सम्मान समारोह में उन्होंने कहा कि भारत की इन दस लाख से अधिक महिला स्वयंसेवकों ने समुदाय को स्वास्थ्य प्रणाली से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इसलिए ये सम्मान की वाकई हकदार हैं।

सराहनीय रहा काम

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान इनका कार्य बेहद सराहनीय रहा है। इन आशा कार्यकर्ताओं ने बच्चों में होने वाली बीमारियों को रोकने के लिए टीकाकरण, मातृ देखभाल में भी काम किया है। यही नहीं, सामुदायिक स्वास्थ्य देखभाल, तपेदिक के उपचार, पोषण और स्वच्छता के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। खासकर ऐसे समय में जब दुनिया असमानता, संघर्ष, खाद्य असुरक्षा और कोरोना के संकट का सामना कर रही है। उन्होंने कहा कि इन पुरस्कार विजेताओं में आजीवन समर्पण और मानवता की निस्वार्थ सेवा शामिल है।

अफगानिस्तान की टीम सम्मानित

अन्य उल्लेखनीय सम्मानों में अफगानिस्तान के पोलियो टीकाकरण कर्मियों की टीम थी, जिन्हें इस साल फरवरी में देश के तखर और कुंदुज प्रांतों में सशस्त्र बंदूकधारियों ने मार डाला था। इनमें से चार कार्यकर्ता जो महिलाएं थीं, उत्तर-पूर्वी अफगानिस्तान में घर-घर के अभियानों के माध्यम से हजारों बच्चों तक पहुंच रही थीं। अन्य सम्मानों में हार्वर्ड मेडिकल स्कूल में वैश्विक स्वास्थ्य और सामाजिक चिकित्सा विभाग के अध्यक्ष और अंतरराष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन पार्टनर्स इन हेल्थ के सह-संस्थापक डॉ पॉल फार्मर शामिल हैं, जिनका इस साल फरवरी में रवांडा में निधन हो गया।

Related posts

होमियोपैथिक चिकित्सकों ने सरकार से मांगा कोरोना ईलाज का अधिकार

Ashutosh Kumar Singh

1st day of week-long celebrations is celebrated as “Jan Aushadhi Sankalp Yatra”

admin

एक्शन में आए स्वास्थ्य मंत्री,मुजफ्फरपुर में चिकित्सकों का दल भेजने का दिया निर्देश

Leave a Comment