स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

दिल्ली हाट में16 से 31 मार्च तक बिहार उत्सव 2022 शुरू

नई दिल्ली। बिहार स्थापना दिवस के अवसर पर प्रति वर्ष आयोजित होने वाली 15 दिवसीय बिहार उत्सव का आयोजन दिल्ली में 16 से 31 मार्च तक आयोजित है। कोरोना के कारण 2020 एवं 2021 में इसका आयोजन नहीं हो पाया था। इसका आयोजन बिहार सरकार के उद्योग विभाग और के बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार ‘बियाडा’ के द्वारा आईएनए दिल्ली हाट मे मनाया जा रहा है। आईएनए दिल्ली हाट में आयोजित बिहार उत्सव के सजाने सवारने का काम मोड इंटिरियर को मिला है।

शीर्ष अफसर रहे मौजूद

आईएनए दिल्ली हाट में बिहार उत्सव 2022 के पहले दिन आज बिहार सरकार के उद्योग विभाग के उद्योग निदेशक रूपेश कुमार श्रीवास्तव मौजूद थे। इस मौके पर उनके साथ मेला प्रभारी व बिहार सरकार के उद्योग विभाग के उपनिदेशक बिशेश्वर प्रसाद, बियाडा के संजय श्रीवास्तव, कार्यकारिणी बियाडा सुधांशु भूषण कुमार एवं गौतम कुमार भी मौजूद रहे।

बिहार उत्सव में 59 स्टॉल

उद्योग निदेशक रूपेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मेले में इस बार बिहार के प्रसिद्ध हैंडलूम एवं हैंडीक्राफ्ट के 59 स्टॉल लगाया गया है जिसमंे प्रसिद्ध भागलपुरी सिल्क एवं बिहार की प्रसिद्ध हस्तशिल्प एवं हैंडीक्राफ्ट को प्रदर्शित किया गया है। उन्होंने बताया कि बिहार उत्सव के माध्यम से बिहार के कलाकारों को अपने हैंडलूम एवं हैंडीक्राफ्ट के उत्पादों के बिक्री एवं सह.प्रदर्शनी एवं मार्केटिंग का अवसर मिलता है। इसके अलावा दो फूड स्टॉल का भी आवंटन किया गया है।

बिहारी कलाओं का प्रदर्शन

मेला प्रभारी बिशेश्वर प्रसाद ने कहा कि इस बार स्टॉलों के माध्यम से मशहूर मधुबनी एवं मिथिला पेंटिंग, जूट निर्मित वस्तुएं यथा जूट ज्वेलरी, निपुरा सिल्क एवं हस्तकरघा से निर्मित बेड-सीट, चादर विशेष रूप से मेला का आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है। अन्य स्टॉलों के माध्यम से मशहूर भागलपुरी सिल्क, मिथिला पेंटिंग, सिकी निर्मित सामग्री, मोतिहारी का आकर्षक सीप निर्मित आभूषण, टेरा कोटा निर्मित वस्तुएं, जूट निर्मित वस्तुएं यथा जूट ज्वेलरी टिकुली आर्ट के साथ-साथ नालंदा, बिहारशरीफ का नेपुरा सिल्क एवं हस्तकरघा से निर्मित चादर मेला का आकर्षण का केन्द्र रहेंगे। इस अवसर पर बिहार लोक कला एवं संगीत का सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन दिनांक 21 एवं 22 मार्च को संध्या 6 से 8 बजे तक किया जाएगा।

Related posts

2025 तक भारत को टीबी मुक्त बनाने की दिशा में सरकार कर रही है काम-डॉ. मनसुख मांडविया, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री

admin

सोशल मीडिया के जरिए फिटनेस संदेश दे रही है संस्था

Ashutosh Kumar Singh

देश की सभी दवा दुकानों पर मिलेंगी उच्च गुणवत्ता वाली जेनरिक दवाइयां, सरकार कानून लाने की तैयारी में

Leave a Comment