स्वस्थ भारत मीडिया
कोविड-19 गैर सरकारी संगठन समाचार

सोशल मीडिया के जरिए फिटनेस संदेश दे रही है संस्था

Good Inisiative by Civil society

फिजिकल एजूकेशन फाऊंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) विगत कई वर्षों से डॉ. पीयूष जैन के नेतृत्व में शारीरिक शिक्षा और खेल के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर पर काम करने वाली संस्था है।

नई दिल्ली। स्वस्थ भारत मीडिया

देश में लाकडाउन के चलते हम सब अपने अपने घरों में रहने को मजबूर हैं, हर कोई इसका पालन भी कर रहा हैं। इस आपदा के समय में बहुत-से लोग, संस्थाएं मजबूर और निशक्त लोगों के जीवन यापन के लिए अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन भी कर रहे हैं। इसी कड़ी में फिजिकल एजूकेशन फाऊंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) लोगों को घर पर रहकर अपने स्वास्थ्य को बेहतर कैसे रख सकें इसकी जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से आम जनमानस तक पहुंचा रहा है।

यह भी पढ़ें… आइए भारतीयताका दीप हम भी जलाएं

पेफी के राष्ट्रीय सचिव डॉ. पीयूष जैन ने बताया कि देश में लॉकडाउन के चलते जिम और फिटनेस सेंटर, पार्क आदि बंद होने से लोग फिटनेस वर्कआउट नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे समय में बहुत से लोगों को ये पता नहीं है कि वो घर पर रह कर भी कुछ शारीरिक व्यायाम और एक्टिविटी कर सकते हैं। जिसके जरिए वह अपने और अपने परिवार को फिट रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें…  प्रसव वेदनाके दौड़ में वैश्विक समाज

जैन ने बताया कि पेफी ने लॉकडाउन के दौरान अपने शरीर को कैसे फिट रखें इस बात की जानकारी देने का जिम्मा उठाया है। उन्होने बताया कि पेफी के पूरे भारत वर्ष में हजारों की संख्या में वॉलेंटियर हैं। जो लॉकडाउन के दौरान लोगों को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक के जरिए स्वस्थ रहने के टिप्स दे रहे हैं। पीयूष जैन ने बताया कि वह खुद रोप स्किपिंग( रस्सी कूद) के जरिए अपने दिन की शुरुआत करते हैं। जिसका वीडियो उन्होने सोशल मीडिया पर डाल कर लोगों को आह्वान किया कि दस मिनट रस्सी कूदें और स्वस्थ रहें। उन्होनें बताया कि लॉकडाउन के दौरान जब हम घर से बाहर जाकर वर्क आउट नहीं कर सकते हैं तो घर में दस मिनट रस्सी कूद लेना ही श्रेष्ठ विकल्प है। ऐसा करने से हम अपने स्वास्थ्य को बेहतर कर सकते हैं।

जैन ने कहा कि नियमित रस्सी कूदने से आपके हाथ और पैरों की हड्डियां मजबूत होती हैं, हमारे चेहरे पर ग्लो आता है, घुटने के दर्द से राहत मिलती है और मेमोरी पावर भी बढ़ती है। हर रोज 10-15 मिनट तक रस्सी कूदने से शरीर से कम से कम 200-250 कैलोरी तक की कैलोरी बर्न होती है। बच्चों की रुकी लंबाई बढ़ानें में रस्सी कूद अहम योगदान देता है।

यह भी पढ़ें… आइए भारतीयताका दीप हम भी जलाएं

पेफी की इस मुहिम में फिटनेस एक्सपर्ट अंतिका प्रकाश, चेतन कुमार, बब्बू मान, नंदिनी रावत योग एक्सपर्ट तरुण कुमार, कुंदन कुमार, दीप्ति ग्रेवाल, सर्वेश उपाध्याय, मनोज मिश्रा और अन्य टीम सदस्यों ने फिटनेस जागरुकता फैलाने का बीड़ा उठाया है। फिटनेस एक्सपर्ट अंतिका प्रकाश, कुंदन कुमार योग, प्राणायाम के लाइव वीडियो के जरिए लोगों को स्वस्थ रहने के तरीके बताती हैं। उन्होंने कहा कि योग एक ऐसी तकनीक है जिसके जरिए हम खुद को निरोग बनाए रख सकते हैं। योग, प्राणायाम,सूर्य नमस्कार के कई फायदे हैं। इनके जरिए हम अपने शरीर को स्वस्थ और सुंदर बनाये रख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें… डरने की नहीं, कोरोना से लड़ने की है जरूरत

गौरतलब है कि फिजिकल एजूकेशन फाऊंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) विगत कई वर्षों से डॉ. पीयूष जैन के नेतृत्व में शारीरिक शिक्षा और खेल के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर पर काम करने वाली संस्था है। जिसका उद्देश्य भारत में खेल और शारीरिक शिक्षा का उत्थान है। इस संस्था से देश में हजारों खेल प्रेमी, शारीरिक शिक्षक, पूर्व और वर्तमान खिलाड़ी जुड़े हुए हैं।

Related posts

सर्वेश्वर सम्भालेंगे स्वस्थ भारत अभियान राजस्थान की कमान

swasthadmin

कोविड-19 के विरुद्ध पूर्व सैनिकों ने खोला मोर्चा

फ्रंटलाइनर बने आयुर्वेद और होमियोपैथ

Leave a Comment