स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार

NHM कर्मचारियों ने सरकार को दिया एक महीने का अल्टीमेटम

जम्मू:
रेगुलराइजेशन की मांग को लेकर जम्मू कश्मीर एनएचएम एसोसिएशन ने एक बार फिर अपनी आवाज़ बुलंद की है सोमबार को जम्मू के प्रेस ग्राउंड में राज्य के कोने कोने से आये एनएचएम कर्मिओं ने रेगुलराइजेशन समेत कई मांगो को लेकर प्रदर्शन किया।

मीडिया से मुखातिब फैजान ताम्ब्रु
मीडिया से मुखातिब फैजान ताम्ब्रु

सभा को सम्बोधित करते हुवे एनएचएम एसोसिएशन के फैजान ताम्ब्रु कहा की राज्य में 8 हज़ार से अधिक कर्मचारी अपने भविष्य को लेकर चिंतित है। इनमे कई अन्य दूसरी सरकारी नौकरियों के लिए अपनी अधिकतम उम्र सीमा पार कर चुके है। फैजान ने जम्मू कश्मीर सरकार को दो टूक चेतावनी देते हुवे कहा कि हर हाल में कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को एक महीने की भीतर सरकार नियमितीकरण पर फैसला ले अन्यथा उग्र आंदोलन के लिए तैयार रहे।
सभा को सम्बोधित करते हुवे डॉ. सोनी शम्ब्याल ने कहा की सरकार को अच्छी तरह पता है कि एनएचएम कर्मी स्वस्थ व्यवस्था की रीढ़ है। बगैर एनएचएम के जम्मू कश्मीर में स्वास्थ्य की परिकल्पना नहीं की जा सकती। हाल में ही सूबे के स्वस्थ मंत्री लाल सिंह ने जम्मू कश्मीर को हेल्थ में अग्रणी रहने हेतु सम्मानित किया गया था। सरकार को यह अहसास होना चाहिए की किसी भी योज़ना की सफलता उनके कर्मचारियों पर निर्भर होती है। ऐसे में अपने कर्मचारीयों पर ध्यान नहीं देना उनके मनोबल को गिराने जैसा है।
मौके पर जम्मू कश्मीर मेडिकल एम्प्लॉय फेडरेशन के अध्यक्ष सुशील सूडान, सचिव विनोद शर्मा समेत अबु मज़ीद खान मोहित सेठ, डॉ हामिद पर्रेय डॉ. सादिक़, डॉ शाज़िया, मो. शाहीन नवाज़, मो. रौफ अहमद मुज़फ्फर हुसैन डॉ. कौसर व अन्य वक्ताओं ने भीड़ को सम्बोधित किया।
सचिवालय जा रहे कर्मचारियों को पुलिस ने रोका 
सभा को सम्बोधित करने के बाद प्रदर्शनकारी सचिवालय की तरफ कूच कर गए जहाँ पुलिस ने सभी को रोक लिया। हल्की झड़प के बीच ज्ञापन सौपें जाने की खबर है।
 
एनएचएम कर्मियों को रोकते सचिवालय में तैनात पुलिस कर्मी
एनएचएम कर्मियों को रोकते सचिवालय में तैनात पुलिस कर्मी

स्वास्थ्य जगत की खबरों से अपडेट रहने  के लिए स्वस्थ भारत अभियान की पेज को लाइक कर दें !

Related posts

Citizens save around Rs. 600 crores till date during FY2018-19 under PMBJP: Shri Mansukh Mandaviya

Hearing loss can be a big factor in dementia

swasthadmin

अब कोविड-19 के दौरान “फर्स्ट ऐड साइकोलॉजिकल सपोर्ट” लेकर आया यह संस्थान

Leave a Comment