स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार / News

कोरोना संक्रमण से डायबिटीज रोगियों की ज्यादा मौतें

नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। कोरोना के कारण मधुमेह रोगियों के मौत के मामले बढ़े हैं। महामारी ने स्वास्थ्य देखभाल और जीवनशैली में व्यवधान पैदा कर दिया है, जिससे ऐसे रोगियों की जटिलताएं बढ़ गई हैं। यह खुलासा द लैंसेट डायबिटीज एंड एंडोक्रिनोलॉजी जर्नल में प्रकाशित शोध से हुआ है। डब्ल्यूएचओ सहित अन्य शोधकर्ताओं की टीम ने इससे संबंधित 138 स्टडी की समीक्षा में पाया है कि महामारी के दौरान मधुमेह रोग कोविड से मृत्यु का एक जोखिम कारक था। जिन डायबिटिक रोगियों को कोरोना संक्रमण हुआ, उनमें जटिलताएं अधिक बढ़ती हुई देखी गईं।

डायबिटीज रोगियों में कैंसर का खतरा

बात चली डायबिटीज की तो जाने लें कि यह खतरनाक इसलिए होता है कि इसके पीछे-पीछे कई और बीमारियां चली आती हैं। आंखों से लेकर किडनी, लीवर और दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। अब तो कैंसर के खतरे की भी बात सामने आ रही है। जामा जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक डायबिटीज के शिकार लोगों में कोलोरेक्टल (कोलेन) कैंसर का खतरा 47 प्रतिशत तक ज्यादा हो सकता है। पिछले पांच सालों में डायबिटीज के मरीजों में कोलोरेक्टल कैंसर के मामले तेजी से बढ़े हैं।

Related posts

गढ़चिरौली में मासिक धर्म संबंधी स्वच्छता प्रबंधन में नई पहल

admin

गुणवत्तापूर्ण आयुष शिक्षा के लिए कई प्रयास : मंत्री

admin

CDRI’s efforts to combat novel coronavirus

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment