स्वस्थ भारत मीडिया

Tag : climate change

नीचे की कहानी / BOTTOM STORY

जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से सामना होगा No water No village फिल्म में

admin
नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। हिमालय की अत्यधिक ऊंचाई वाले गांवों पर जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के प्रमाण निर्देशक मुनमुन ढालारिया की ‘छू मेड ना...
समाचार / News

जलवायु परिवर्तन पर काम करने वाले शीर्ष देशों में पहुंचा भारत

admin
नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। जलवायु परिवर्तन के प्रदर्शन के आधार पर भारत को विश्व के शीर्ष 5 देशों में एवं जी-20 देशों में सर्वश्रेष्ठ...
समाचार / News

पृथ्वी निरीक्षण उपग्रह अभियान पर मिलकर काम कर रहे हैं इसरो और नासा

admin
नयी दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA एक पृथ्वी निरीक्षण उपग्रह अभियान ‘निसार’ (नासा-इसरो सिंथेटिक एपर्चर रेडार) के लिए मिलकर...
समाचार / News

रेलमार्गों पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव का अध्ययन अब आसान

admin
नई दिल्ली। रेलमार्गों की आधारभूत संरचना में ट्रैकबेड बिछाने के लिए सघन मिट्टी से बने तटबंध का उपयोग होता है। यह तटबंध रेलगाड़ियों की आवाजाही...
नीचे की कहानी / BOTTOM STORY

हैरत की बात…धरती के दोनों सिरों पर एकसाथ उछला तापमान !

admin
नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। ग्लोबल वार्मिग कहिये या Climate change, पिछले हफ्ते अंटार्कटिक और आर्कटिक की घटनायें चौंका सकती हैं। दोनों ही जगह तापमान...
समाचार / News

दक्षिण एशिया में जलवायु परिवर्तन के प्रभावों से निपटने के उपायों पर चर्चा

admin
नयी दिल्ली (स्वस्थ भारत मीडिया)। जलवायु और नीति विशेषज्ञों ने दक्षिण एशिया में हो रहे जलवायु परिर्वतन के प्रभाव की गंभीरता पर चर्चा की। एक...

महासागरों की थाह लेने की पहल : विश्व मौसम विज्ञान दिवस

Ashutosh Kumar Singh
नई दिल्ली, 23 मार्च (इंडिया साइंस वायर): पृथ्वी पर जीवन के आधारभूत अंगों में मौसम भी एक महत्वपूर्ण अंग है। मानव जीवन और मौसम एक...
चिंतन नीचे की कहानी / BOTTOM STORY फ्रंट लाइन लेख / Front Line Article मन की बात / Mind Matter

Featured जलवायु परिवर्तनःस्वस्थ समाज के लिए खतरा

समुद्र का बढ़ता स्तर और बढ़ती चरम मौसम घटनाएं घरों, चिकित्सा सुविधाओं और अन्य आवश्यक सेवाओं को नष्ट कर देंगी। दुनिया की आधी से अधिक...
समाचार / News

द लांसेट : जलवायु परिवर्तन से खाद्य उत्पादन पर पड़ने वाला प्रभाव वर्ष 2050 तक ले सकता है 05 लाख अतिरिक्त लोगों की जान

डॉक्‍टर स्प्रिंगमन ने स्पष्ट किया “अनुसंधान का ज्यादातर हिस्सा खाद्य सुरक्षा पर केन्द्रित रहा लेकिन कुछ हिस्से में कृषि उत्पादन के स्वासथ्य पर पड़ने वाले...