स्वस्थ भारत मीडिया
मन की बात / Mind Matter

दुनिया में बढ़ रही है भारत की कूटनीतिक ताकत

दुनिया  में बढ़ रही भारत की धाक को रेखांकित कर रहे है वरिष्ठ पत्रकार आदर्श प्रकाश सिंह

एसबीएम/ मन की बात
———————————-
जी-7 विकसित देशों का एक समूह है और भारत अभी इसमें शामिल नहीं है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कुछ बड़े देशों के इस ग्रुप में भारत को जोड़ने की जोरदार पैरवी की है। यह हमारे देश के लिए खुशी की बात है कि दुनिया हमारी ताकत को अहमियत दे रही है। कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के दौरान भी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिस मित्रवत भाव से कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों से बात की उससे भी भारत का मान बढ़ा।
हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन दवा के लिए अमेरिका और ब्राजील ने जब मोदी से गुहार लगाई तो भारत ने वहां यह दवा भिजवाई। मानवता की सेवा में भारत कभी पीछे नहीं रहा। अब यदि ट्रंप भारत को जी-7 में शामिल कर इसका दायरा बढ़ाने की पैरवी कर रहे हैं तो इसमें कोई अचरज की बात नहीं। ट्रंप ने भारत के अलावा दक्षिण कोरिया,आस्ट्रेलिया और रूस को भी इसमें शामिल करते हुए इसका नाम जी-10 या जी-11 करने का सुझाव दिया है। यह इसलिए भी जरूरी है क्योंकि ये चारो देश भी आज एक बड़ी आर्थिक ताकत हैं। इन देशों के बगैर कोई संगठन भला कैसे बन सकता है।
कोरोना की विपदा के लिए दुनिया चीन को दोषी मान रही है। ट्रंप तो ड्रैगन के खिलाफ आगबबूला हैं ही, जर्मनी ने विनाश के एवज में चीन पर भारी जुर्माना थोप दिया है। ऐसे में विश्व के कई देशों का झुकाव भारत की तरफ है। भारत दुनिया में अहम भूमिका में उभरते हुए देश के रूप में बढ़ रहा है। ट्रंप का मोदी के प्रति दोस्ताना व्यवहार जगजाहिर है। ऐसे में भारत यदि जी-7 में शामिल हुआ तो हमारी कूटनीतिक अहमियत और बढ़ जाएगी। चीन जितना घिरेगा भारत के लिहाज से अच्छा ही होगा। लद्दाख में चीन जो कुछ कर रहा है दुनिया उसे भी बड़े गौर से देख रही है।
इसे भी पढ़ें-
इन कोरोना योद्धाओं को भी सम्मान दे समाज
सियासत कीजिए लेकिन श्रमिकों के साथ नहीं
बिहार में बहार लाने की चुनौती

Related posts

तो क्या भारत में ईजाद होगी कोरोना की वैक्सीन

Ashutosh Kumar Singh

सफलता एवं समृद्धि का आधार स्वास्थ्य हैः प्रधानमंत्री

कोरोना के बाद का भारत ज्यादा आत्मनिर्भर व समर्थ होगा

Ashutosh Kumar Singh

Leave a Comment