स्वस्थ भारत मीडिया
समाचार कोविड-19

कोरोना और हम विषय पर वेबिनार आयोजित

कोरोना और हम

 

एनयूजेआई, डीजेए और इंपावरमेंट संस्था के वेबिनार में देश के दर्जनों वरिष्ठ पत्रकार हुए शामिल

नई दिल्ली, 30 मई। कोरोना की वर्तमान चुनौती एवं हमारे जीवन पर इसके प्रभाव पर नेशनल यूनियन जर्नलिस्ट्स (इंडिया), दिल्ली पत्रकार संघ (डीजेए) एवं इंपावरमेंट संस्था द्वारा संयुक्त रूप से शनिवार को एक वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में वक्ताओं ने मीडिया के सामने खबर प्रस्तुत करने को लेकर आ रही चुनौतियों को रेखांकित किया। ऐसे समय में जब पूरा देश मानसिक दबाव में है, उनको इससे उबारने में किस तरह मीडिया मदद करे इस विषय के साथ-साथ इस बात पर भी चर्चा हुई कि किस तरह से लोगों के बीच सही जानकारी पहुंचाई जाए। एलोपैथ से इतर भारतीय पैथियों द्वारा कोरोना के प्रभाव को कम करने की दिशा में किए जा रहे शोध एवं इन पैथियों में हो रहे प्रीवेंटिव कार्य को भी आम लोगों के बीच में लाया जाए।

इस अवसर पर एनयूजे (आई) के महासचिव सुरेश शर्मा, एनयूजे के वरिष्ठ नेता अशोक मल्लिक एवं दिल्ली पत्रकार संघ के अध्यक्ष मनोहर सिंह, कलाकार शंपा सिकार दास, पत्रकार मिलन शर्मा, प्रतिभा शुक्ला, प्रेरक शिवम वर्मा, इमपावरमेंट के अध्यक्ष कुमार विकास सक्सेना, निगम के पूर्व चेयरमैन खविन्दर सिंह कैप्टन ने अपनी बात प्रमुखता से रखी। दिल्ली पत्रकार संघ के महासचिव अमलेश राजू ने कार्यक्रम को संचालित किया जबकि डीजेए के कार्यकारी सदस्य आशुतोष कुमार सिंह ने तकनीकि पक्ष को संभाला।

अन्य वक्ताओं में एनयूजेआई मनोज मिश्रा, अरविन्द कुमार सिंह, उमेश चतुर्वेदी, उपजा नेता रमेश जैन, आंध्रा और तेलंगना के नेता उप्पला लक्षमण, भानू, झारखण्ड के संजय पांडेय, कोमल तिवारी, जाप नेता हरिकृष्ण ,आभा निगम, आईटी विशेषज्ञ पंकज सक्सेना ने भी अपनी बात रखी। वक्ताओं ने एक मत से इस बात की सहमति जताई कि अब समय आ गया है कि स्वास्थ्य एवं शिक्षा विषयक बिन्दुओं पर वैज्ञानिक अप्रोच के साथ रिपोर्टिंग की जाए। पत्रकारों के लिए कोरोनाकालिन गाइड-लाइन बनाने पर भी इस वेबिनार में सहमति बनी।

यह भी पढ़ें
Need to Shift from Problem-based to Solution-based Journalism: K.G. Suresh

A novel tool to help gain deeper insight into Parkinson’s disease

नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने दिया विकिसित व आत्मनिर्भर भारत के लिए सात सूत्रीय मंत्र

कोरोना जंग में पड़ोसी देश पाकिस्तान कहां खड़ा है?

मीडिया को समाज के लिए उदाहरण प्रस्तुत करना चाहिए: प्रो. के.जी. सुरेश

Related posts

झारखंड के फार्मासिस्ट अंजन प्रकाश से पीएम ने की लंबी बातचीत

swasthadmin

‘किलकारी’ बतायेगा कि गर्भस्थ शिशु की तबीयत कैसी हो !

swasthadmin

कर्मचारियों ने की दिवाली बोनस की मांग

swasthadmin

Leave a Comment